January 2017
 
 
 
 
 
Upaay (24-01-2015)
 

For Professional Gains:

If you are associated with private sector or institute and you are  facing family and physical problem and struggling hard at work place, with legal complications, bad health and nothing seems to work then taketwo grains each of  2sided Rudraksha, 7 sided Rudraksha and 12 sided and 11 sided Rudraksha, and wear round your neck in red thread on Monday or Saturday. All problem will get solved and success will follow you.

 
 
Nuskhe
 

Tooth ache:

·        If suffering with caries problem then powder cloves and alum together and fill the caries this brings instant relief.

·        Wet a cotton wick in garlic juice and keep on the caries, this cures all caries as well as pyorrhea.

·        Fill the caries with banyan latex or wet a cotton wick and fill the caries , this helps in relieving pain and trouble.

 
Upaay (24-01-2015)
 

आप किसी भी संस्था, कंपनी या सरकारी विभाग में मैनेजर, उच्च अधिकारी या किसी भी उच्च पद पर आसीन हैं तो  आपको 2 दानें 7 मुखी, 2 दाने आठ मुखी, 2 दाने बारह मुखी, 2 दाने ग्यारह मुखी लाल धागे में धारण करने से इनके प्रभाव से सभी प्रकार के संकट हानि, दुर्घटना, रोग व चिंता से मुक्त हो जायेंगे। साथ ही आपकी सुरक्षा व समृद्घि भी बढ़ेगी। यह अत्यंत ही दुर्लभ व प्रभावशाली कांबिनेशन है।

 
 
Nuskhe (24-01-2015)
 

दाढ़ दर्द

  • यदि दांतों में छंद हो गये हों और दाढ़ दर्द की शिकायत हो तों उसके उपचार के लिए फिटकरी और लौंग पीसकर दाढ़ के खोखल में भर दीजिये और मुँह ढीला छोड़ दीजिये तुरंत लाभ होगा।
  • दाढ़ दर्द के उपचार हेतु लहसुन के तेल या रस में ही रु£ई की फु£रेरी भिगोंकर दांत या दाढ़ पर रख दें। लहसुन के रस से दाढ़-दांत के कीड़े मर जातेे हैं। इससे पायरिया का रोग भी ठीक हो जाता है।
  • दाढ़ दर्द में बरगद का दूध बहुत उपयोगी है। बरगद का दूध दाँत के अन्य रोगों से भी बचाता है और खोड़ (दाँत के गढ़े) में भर देने से कीड़े से भी रक्षा करता है। दूध में रु£ई का फाहा भिंगोकर दुखते दाँत पर रखकर दबा लें, कुछ देर में ही पीड़ा शांत हो जाएगी। दाँत के छिद्र में बरगद के दूध में भीगी फु£रेरी रखने से टीस उठना बंद हो जाएगा।
Home :: Lord Shani :: Shani Sadhe Satti Dhaiya :: Shree Shanidham Trust :: Rashiphal :: Our Literature
Pragya (E-paper) :: Photo - Gallery :: Video Gallery :: Janam Patri :: Pooja Material :: Contact Us
News :: Disclaimer :: Terms & Condition :: Products
Visitors
© Copyright 2012 Shree Shanidham Trust, All rights reserved. Designed and Maintained by C. G. Technosoft Pvt. Ltd.