November 2017
 
 
 
 
 
Upaay (13-11-2014)
 

For Success in income generation:

 

 For success in in growth of income sources take five betel leaves on wednesdays and place five  moong dal laddoos  on each of them after purifying with Gangajalam. Perform panchopchara pujana and chant three rosaries of the Mantra Om Gan Ganapataye Namaha. Then take seven rounds of yourself and feed the cows with your own hands. This will bring sure success.

 

 

 
 
Nuskhe
 

For skin problems:

 

  •  If you are suffering from skin problems, .
  •  Warm groundnut and sesame oil and massage on the affected parts.
  • Apply raw papaya latex on the affected parts, this will help in curing the affected parts and make them free from skin ailments.
  • Radish seeds ground with its leaves juice also helps in skin problems.
     
 
Upaay (13-11-2014)
 

आजीविका में सफलता प्राप्ति के लिए-

आजीविका साधन पूर्ति के लिए बुधवार के दिन नित्यकर्म से निवृत होकर स्नानोपरांत अपने पूजा स्थान में श्री गणेश जी की मूर्ति के आगे पांच पान के पत्ते गंगा जल से धोकर रखें। पांचों पत्तों पर पांच-पांच मूंग की दाल के लड्डू रखें। तत्पश्चात श्रद्घापूर्वक पंचोपचार पूजन करें। घी का दीपक जलाकर तीन माला ऊं गं गणपतये नम: मंत्र का जाप करें। पान के पत्ते समेत लड्डुओं को अपने ऊपर से सात बार उसारें और अपने हाथ से गाय को खिलायें। आजीविका में अवश्य सफलता मिलेगी।

                              

 

 
 
Nuskhe (13-11-2014)
 

चर्म रोग

दाद, खाज आदि चर्म रोगों में मूंगफ£ली के तिल को गुनगुना गर्म करके मालिश करने से विशेष फ£ायदा होता है।

    कच्चे पपीते का रस चर्म रोगों से ग्रसित स्थान पर लगाने से फ£ायदा होता है। यह चर्म चर्म रोगों से मुक्ति दिलाता है तथा चमड़ी को स्वस्थ बनाता है।

    मूली के बीजों को उसके पत्तों के  रस के साथ पीसकर उसका लेप चर्म रोग ग्रसित अंग पर लगाने से अनेक चर्म रोगों से राहत मिलती है।

Last updated on 21-11-2017
Home :: Lord Shani :: Shani Sadhe Satti Dhaiya :: Shree Shanidham Trust :: Rashiphal :: Our Literature
Pragya (E-paper) :: Photo - Gallery :: Video Gallery :: Janam Patri :: Pooja Material :: Contact Us
News :: Disclaimer :: Terms & Condition :: Products
Visitors
© Copyright 2012 Shree Shanidham Trust, All rights reserved. Designed and Maintained by C. G. Technosoft Pvt. Ltd.